"दिन भर की थकान अब मिटा लीजिए
हो चुकी रात रोशनी बुझा लीजिए
एक खूबसूरत ख्वाब राह देख रहा है
बस पलकों का परदा गिरा लीजिए...।।

"मीठी मीठी याद पलकों मैं सजा लेना
साथ गुज़रे पल को दिल मैं बसा लो
दिल को फिर भी न मिले सुकून तो
मुस्कुरा कर मुझे सपनो मैं बुला लेना...।।

"मेरी साँसों में बिखर जाओ तो अच्छा है
मेरे जिस्म में उतर जाओ बन के रूह तो अच्छा है
किसी रात तेरी गोद में सर रख कर शो जाऊ
उस रात की कभी सुबह न हो तो अच्छा है...।।

"हो आज प्यार का जादू
ओर एक यादगार पल बन जाये
तुम बस आजाओ ख्वाबो में हमारे
ताकि आज की रात सब से प्यारी बन जाये...।।

"आज आपकी रात की अच्छी शुरुआत हो
रात भर खूबसूरत सपनो की बरसात हो
जिन्हें आपकी निगाहे हर वक्त ढूंढती रहती हैं
खुदा करे आपसे उनकी सपनो में मुलाकात हो...।।

"ये दिल दिन में कितने चेहरों के बीच रहता है
लेकिन रात के ख्वाब में सिर्फ तेरा ही चहरा रहता है...।।

"कितनी दिल नशी ये रात आई है
आपकी ही मेरे लवो पे बात आई है
हमने तो बहुत कोशिश की सोने की
लेकिन फिर मुझे आपकी याद आई है...।।

"रात गुमसुम हैं मगर चाँद खामोश नहीं
कैसे कह दूँ फिर आज मुझे होश नहीं
ऐसे डूबा तेरी आँखों के गहराई में आज
हाथ में जाम हैं,मगर पिने का होश नहीं...।।

"जब रात को आपकी याद आती है
सितारों में आपकी तस्वीर नज़र आती है
खोजती है निगाहें उस चेहरे को
याद में जिसकी सुबह हो जाती है...।।

"जिसे जाना ही नहीं उसे खुदा कैसे मान लू
जिसे जान लिया वह खुदा कैसे हो गया...।।

"यादों से तुम्हारी हम प्यार करते है
सात जनम भी तुम पर निसार करते है
फ़ुर्सत मिले तो कुछ लिख भेजना
इक तेरे ही SMS का तो हम इंतज़ार करते है...।।

"मिलने आएंगे हम आपसे ख़्वाबों में
ज़रा रोशनी के दिए बुझा दीजिए
अब और नहीं होता इंतज़ार आपसे मुलाक़ात का
ज़रा अपनी आँखों के परदे तो गिरा दीजिए...।।

"अगर मै हद से गुज़र जाऊ तो माफ़ करना
तेरे दिल मै उतर जाऊ तो माफ़ करना
तुझे देख के रात मै तेरे दीदार की खातिर
पल भर जो ठहर जाऊ तो माफ़ करना...।।

"कुदरत के करिश्मे में अगर रात ना होती
तो खवाबो में यूँ मुलाकात ना होती
हर रिश्ते की वजह ये दिल ही है
अगर ये दिल ना होता तो कोई बात ही ना होती...।।

"तन्हाइयो मे मुस्कुराना इश्क़ है
एक बात को सब से छुपाना इश्क़ है
यूँ तो नींद नही आती हमें रात भर
मगर सोते सोते जागना और जागते जागते सोना इश्क़ है...।।

"तेरी यादों में नींद का आना बड़ा मुश्किल हो गया है
और नींद आ भी जाये तो उस नींद पर भी तेरा पहरा हो गया है...।।

"मुझे आदत नहीं
यूँ हर किसी पर मर मिटने की
पर तुझे देख कर दिल ने
सोचने तक की मोहलत न दी...।।

"आपने होठों की मीठी मुस्कान भेज दो
आपने नैनों के नशीले जाम भेज दो
सोने का हो गया है वक्त
मेरे लिए प्यार भरा पैग़ाम भेज दो...।।

"ये रातें भी बड़ी ज़ालिम हो जाती हैं
जब दूर-दूर तक नींद नज़र नहीं आती है
चलो नींद न आने के बहाने हम कुछ काम ही कर लें
पर कमबख्त किसी की यादें दस्तक दे जाती हैं...।।

"जाने उस शख्स को कैसे ये हुनर आता है
रात होती है तो आँखों में उतर आता है
मै उस के ख्यालो से बच के कहाँ जाऊ
वो मेरी सोच के हर रस्ते पे नज़र आता है...।।

"तेरी आरज़ू में हमने बहारों को देखा
तेरी जुस्तजू में हमने सितारों को देखा
नहीं मिला इससे बढ़कर इन निगाहों को कोई
हमने जिसके लिए सारे जहान को देखा...।।

"कितनी जल्दी से मुलाकात गुजर जाती है
प्यास बुझती नही बरसात गुजर जाती है
अपनी यादों से कहो की यूँ ना सताया करे
नींद आती नही और रात गुजर जाती है...।।

"वादा करो आज भी ख़्वाबों में आओगे
रात भर अपने साथ चाँद पर ले जाओगे...।।

"आपसे मिलने के बाद अब आपको खोना नहीं चाहते
एक प्यारी सी खुशी मिलने क बाद रोना नहीं चाहते
नींद तो बहुत हैं हमारी आँखों में
मगर आपसे बात करे बिना सोना नही चाहते...।।

"दिल के सागर में लहरें उठाया ना करो
ख्वाब बनकर नींद चुराया ना करो
बहुत चोट लगती है मेरे दिल को
तुम ख्वाबो में आकर युँ तडपाया ना करो...।।

"कुछ यादें याद रखना
कुछ बाटें याद रखना
हम उम्र भर साथ रहे न रहे
हम साथ थे कभी ये उम्र बाहर याद रखना...।।

"ज़रूर चाँद-तारो की कोई कहानी होगी
इनकी भी दुनिया बड़ी सुहानी होगी
यूँ ही नहीं है ये आसमाँ इतना सुंदर
ज़रूर ये भी किसी के प्यार की निशानी होगी...।।

"हर रात हम कुछ अल्फ़ाज़ लिखते है
बीते हुए कल के कुछ ख़याल लिखते है
तेरी याद में बीत जाती है रात हमारी
ओर सारी रात टूटे दिल से अपने जज़्बात लिखते है...।।

"मेरा नाम बोल के सोया करो
खिड़की खोल तकिआ मोड़ के सोया करो
हम भी आएंगे तुम्हारे खयालो में
इसलिए थोड़ी सी जगह छोड़ के सोया करो...।।

"जिस तरह चाँद आपको चाँदनी देता है
और फूल खिल कर खुशबू देता है
उसी तरह मेरा दिल आपको Good Night कह देता है...।।

"आएग सूरज में होती है जलना ज़मीन को पड़ता है
मोहब्बत निगाहेँ करती है, तड़पना दिल को पड़ता है...।।

"नींद का साथ हो
सपनो की बारात हो
चाँद सितारे भी साथ हो
ओर कुछ रहे ना रहे
पर हमारी यादे आपके साथ हो...।।

"वो सर्द रातों में धीरे से आती है
वो खुशियों से भरे सपनों की सौग़ात लाती है
कहती है सपनों के सागर में गोते लगाओ
हो गई है रात अब जल्दी से सो जाओ...।।

"तेरी साँसों में बिखर जाऊं तो अच्छा है
बन के रूह तेरे जिस्म मे उतर जाऊं तो अच्छा है
किसी रात तेरी गोद में सर रख कर सो जाऊं
उस रात की कभी सुबह ना हो तो अच्छा है...।।

"अपनी आँखो के अश्क बहा कर सोना
तुम मेरी यादो का दिया जलाकर सोना
डर लगता है नींद ही छीन ना ले तुझे
तू रोज़ मेरे ख्वाबो में आ कर सोना...।।

"जब रात किसी की याद सताए
जब हवा बालों को सहलाए
तब कर बंद आँखों को सो जाना
क्या पता जिसका हो ख़्वाब
वो ही ख़्वाबों मे आजाए...।।

"मन करता है तुम से प्यारी सी बात हो
चाँद-सितारे हो और हसीन रात हो
फिर रात भर करते रहें गुफ़्तगू इस कदर
कि हम सुबह के सूरज से अनजान हों...।।

"चाँद तारो से रात जगमगाने लगी
फूलों की खुश्बू से दुनिया महकने लगी
सो जाइये रात हो गयी है काफ़ी
नीद की रानी भी आपको देखने है आने लगी...।।

"चाँद-तारों से रात जगमगाने लगी
रात कि रानी खुशबू फैलाने लगी
अब सो भी जाइए रात हो गयी है काफ़ी
निंदिया रानी भी आँखों को सताने लगी...।।

"जी चाहता हैं तुम से प्यारी सी बात हो
हसीन चाँद तारे हो, लंबी सी रात हो
फिर रात भर यही गुफ्तगू करे हम दोनो
तुम मेरी ज़िंदगी हो, तुम मेरी कायनात हो...।।