"दे सलामी इस तिरंगे को
जिस से तेरी शान हैं
सर हमेशा ऊँचा रखना इसका
जब तक दिल में जान हैं...।।
de salaamee is tirange ko jis se teree shaan hain sar hamesha ooncha rakhana isaka

 

"सलाम करें उनको जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है
खुशनसीब होता है वो खून जो देश के काम आता है...।।
salaam karen unako jinake hisse mein ye mukaam aata hai khushanaseeb hota hai vo khoon jo desh ke kaam aata hai

15 August 2019

"देशभक्तों से ही देश की शान है
देशभक्तों से ही देश का मान है
हम उस देश के फूल हैं यारों
जिस देश का नाम हिंदुस्तान है...।।
deshabhakton se hee desh kee shaan hai deshabhakton se hee desh ka maan hai ham us desh ke phool hain yaaro

15 August 2019

"लहराएगा तिरंगा अब सारे आस्मां पर
भारत का नाम होगा सब की जुबान पर
ले लेंगे उसकी जान या दे देंगे अपनी जान
कोई जो उठाएगा आँख हमारे हिंदुस्तान पर...।।
laharaega tiranga ab saare aasmaan par bhaarat ka naam hoga sab kee jubaan par le lenge usakee jaan ya de denge apanee jaan

15 August Independence Day Hindi Shayari 2019

"फना होने की इजाजत ली नहीं जाती
यह वतन की मोहब्बत है
जनाब पूछ के की नहीं जाती...।।
phana hone kee ijaajat lee nahin jaatee yah vatan kee mohabbat hai janaab poochh ke kee nahin jaatee

"कुछ नशा तिरंगे की आन का है
कुछ नशा मातृभूमि की मान का है
हम लहराएंगे हर जगह इस तिरंगे को
ऐसा नशा ही कुछ हिंदुस्तान की शान का हैं...।।
kuchh nasha tirange kee aan ka hai kuchh nasha maatrbhoomi kee maan ka hai ham laharaenge har jagah is tirange ko

"अब तक जिसका खून न खौला
वो खून नहीं वो पानी है
जो देश के काम ना आये
वो बेकार जवानी है...।।
ab tak jisaka khoon na khaula vo khoon nahin vo paanee hai jo desh ke kaam na aaye vo bekaar javaanee ha

"हम आजाद हैं, ये आजादी कभी छिनने नहीं देंगे
तिरंगे की शान को हम कभी मिटने नहीं देंगे
कोई आंख भी उठाएगा जो हिंदुस्तान की तरफ
उन आंखों को फिर दुनिया देखने नहीं देंगे...।।

"वतन पर जो फिदा होगा
अमर वो हर नौजवान होगा
रहेगी जब तक दुनिया ये
अफसाना उसका बयाँ होगा...।।

"जब इश्क और क्रांति का अंजाम एक ही है
तो राँझा बनने से अच्छा है भगतसिंह बन जाओ...।।

"गूँज रहा है, दुनिया में भारत का नगाडा
चमक रहा है, आसमान में देश का सितारा
आज़ादी के दिन आओ मिलके करें दुआ यही
की बुलंदीयों पर लहराता रहे तिरंगा हमारा...।।

"बेबी को बेस पसन्द हैं
सलमान को केस पसन्द हैं
मोदी को विदेश पसन्द है
और मुझे मेरा देश पसंद हैं...।।

"इतनी सी बात हवाओं को बताए रखना
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना
लहू देकर की है जिसकी हिफ़ाजत हमने
ऐसे तिरंगे को दिल में हमेशा बसाए रखना...।।

"भूल न जाना भारत मां के सपूतों का बलिदान
इस दिन के लिए हुए थे जो हंसकर कुरबान
आजादी की ये खुशियां मनाकर लो ये शपथ
कि बनाएंगे देश भारत को और भी महान...।।

"नज़ारे नज़र से ये कहने लगे
नयन से बड़ी चीज कोई नहीं
तभी मेरे दिल ने ये आवाज दी
वतन से बड़ी चीज कोई नहीं...।।

"जिंदगी जब तुझको समझा
मौत फिर क्या चीज है
ऐ वतन तू हीं बता
तुझसे बड़ी क्या चीज है...।।

"चलो फिर से वो नजारा याद कर लें
शहीदो के दिल में थी जो ज्वाला वो याद कर लें
जिसमें बहकर आजादी पहुंची थी किनारे पर
बलिदानियों के खून की वो धारा याद कर लें...।।

"दें सलामी इस तिरंगे को जिससे तेरी शान है
सिर हमेशा ऊंचा रहे इसका
इसमें बसती हमारी जान है...।।

"लड़ें वो वीर जवानों की तरह
ठंडा खून फ़ौलाद हुआ
मरते-मरते भी मार गिराए
तभी तो देश आज़ाद हुआ...।।

"मुकम्मल है इबादत और मैं वतन ईमान रखता हूँ
वतन के शान की खातिर हथेली पे जान रखता हूँ
क्यु पढ़ते हो मेरी आँखों में नक्शा पाकिस्तान का
मुस्लमान हूँ मैं सच्चा दिल में हिंदुस्तान रखता हूँ...।।

"ए मेरे वतन के लोगों तुम खूब लगा लो नारा
यह शुभ दिन है हम सब का लहरा लो तिरंगा प्यारा
पर मत भूलो सीमा पर वीरों ने है प्राण गंवाए
कुछ याद उन्हें भी कर लो जो लौट के घर ना आए...।।

"मैं भारत बरस का हरदम अमित सम्मान करता हूँ
यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ
मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की
तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ...।।

"बची है लहू की एक बूँद भी रगों में
तब तक भारत माता का आँचल नीलाम ना होने देंगे...।।

"गूंज रहा है दुनिया में भारत का नगाड़ा
चमक रहा आसमान में देश का सितारा
आजादी के दिन आओ मिलकर करें
दुआ की बुलंदी पर लहराता रहे तिरंगा हमारा...।।

"खुशनसीब हैं वो जो वतन पर मिट जाते हैं
मरकर भी वो लोग अमर हो जाते हैं
करता हूँ उन्हें सलाम ए वतन पे मिटने वालों
तुम्हारी हर साँस में तिरंगे का नसीब बसता है...।।

"न मरो अपनी बेवफा सनम के लिये
दो गज जमीन नही मिलेगी दफ़न होने के लिए
अगर मरना ही हैं तो मरो अपने वतन के लिए
हसीना भी ख़ुशी से दुप्पटा उतार देगी
तुम्हारे कफ़न के लिए...।।

"रिश्ता हमारा ऐसे ना तोड़ पाए कोई
दिल हमारे एक है एक है हमारी जान
हिन्दुस्तान हमारा है हम है इसकी शान
जान लूटा देंगे वतन पे हो जाएँगे क़ुरबान
इसलिए हम कहते है मेरा देश महान...।।

"मेरे देश का मान हमेशा यूँ ही बनाये रखूँगा
दिल तो क्या जान भी इस पर निछावर कर दूंगा
अगर मिले एक भी मोका देश के काम आने का
तो बिना कफ़न के ही देश के लिए सो जाऊंगा...।।

"भूख, गरीबी, लाचारी को, इस धरती से आज मिटायें
भारत के भारतवासी को, उसके सब अधिकार दिलायें
आओ सब मिलकर नये रूप में स्वतंत्रतता मनायें...।।

"कभी ठंड में ठिठुर कर देख लेना
कभी तपती धूप में जल के देख लेना
कैसे होती हैं हिफाजत मुल्क की
कभी सरहद पर जा के देख लेना...।।

"सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है
देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में है...।।

"गुलाम बने इस देश को आजाद तुमने कराया है
सुरक्षित जीवन देकर तुमने कर्ज अपना चुकाया है
दिल से तुमको नमन करते हैं
ये आजाद वतन जो दिलाया है...।।

"ना सरकार मेरी है ना रौब मेरा है
ना बड़ा सा नाम मेरा है
मुझे तो एक छोटी सी बात का गौरव है
मै हिन्दुस्तान का हूँ और हिन्दुस्तान मेरा है...।।

"काले गोरे का भेद नहीं
इस दिल से हमारा नाता है
कुछ और न आता हो हमको
हमें प्यार निभाना आता है...।।

"ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता
नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता...।।

"मेरा “भारत” महान था, महान है और महान रहेगा
है होंसला सब के दिलों में बुलंद
तो एक दिन पाक भी जय हिन्द कहेगा...।।

"आया स्वतंत्रता दिवस महान
हर चहरे पर है मुस्कान
खुली हवा है खुला आकाश
देश खड़ा है सीना तान...।।

"आन देश की शान देश की
देश की हम संतान हैं
तीन रंगों से रंगा तिरंगा
अपनी ये पहचान है...।।

"काले गोरे का भेद नहीं
इस दिल से हमारा नाता है
कुछ और न आता हो हमको
हमें प्यार निभाना आता है...।।

"तीन रंग का नही वस्त्र, ये ध्वज देश की शान हैं
हर भारतीय के दिलो का स्वाभिमान हैं
यही है गंगा, यही हैं हिमालय, यही हिन्द की जान हैं
और तीन रंगों में रंगा हुआ ये अपना हिन्दुस्तान हैं...।।

"ना हिन्दू बन कर देखो
ना मुस्लिम बन कर देखों
बेटों की इस लड़ाई में
दुःख भरी भारत माँ को देखो...।।

"लहराएगा तिरंगा अब सारे आसमान पर
भारत का ही नाम होगा सबकी जुबान पर
ले लेंगे उसकी जान या खेलेंगे अपनी जान पर
कोई जो उठाएगा आँख हिंदुस्तान पर...।।

"मुझे तन चाहिए ना धन चाहिए
बस अमन से भरा ये वतन चाहिए
जब तक जिन्दा रहूँ इस मातृभूमि के लिए
और मरुँ तो तिरंगा कफन चाहिए...।।

"देश भक्तों को अक्सर लोग पागल कहते हैं
कह दो उन्हें… सीने पर जो जख्म हैं
सब फूलों के गुच्छे हैं
हमें पागल ही रहने दो
हम पागल ही अच्छे हैं...।।

"न सिर झुका है कभी
और न झुकने देंगे कभी
जो अपने दम पर जिएं
सच में जिंदगी है वही...।।

Loading...