"हर हर महादेव जो अमृत पीते हैं उन्हें देव कहते हैं
और जो विष पीते हैं उन्हें
देवों के देव
"महादेव" कहते हैं...।।
har har mahaadev jo amrt peete hain unhen dev kahate hain aur jo vish peete hain unhen devon ke dev mahaadev kahate hain

"यारो फना होने की इजाजत ली नहीं जाती
ये महादेव की मोहब्बत है
पूछ के की नहीं जाती – हर हर महादेव...।।
yaaro phana hone kee ijaajat lee nahin jaatee ye mahaadev kee mohabbat hai poochh ke kee nahin jaatee

"कर्ता करे न कर सकै
शिव करै सो होय
तीन लोक नौ खंड में
महादेव से बड़ा न कोय...।।
karta kare na kar sakai shiv karai so hoy teen lok nau khand mein mahaadev se bada na koy

"बेसन की रोटी, नींबू का अचार
दोस्तों की खुशी, अपनों का प्यार
सावन की बारिश किसी का इतंजार
मुबारक हो आपको, शिव सावन सोमवार...।।
besan kee rotee neemboo ka achaar doston kee khushee apanon ka pyaar saavan kee baarish kisee ka itanjaar mubaarak ho aapako shiv saavan somavaar

"खुशबु आ रही है कहीँ से भांग की
शायद खिड़की खुली रह गयी है
मेरे महांकाल के दरबार की हर हर महादेव...।।
khushabu aa rahee hai kaheen se bhaang kee shaayad khidakee khulee rah gayee hai  mere mahaankaal ke darabaar kee har har mahaadev

"महादेव के दरबार में दुनिया बदल जाती है
रहमत से हाथ की लकीर बदल जाती है
लेता है जो भी दिल से महादेव का नाम
एक पल में उसकी तकदीर बदल जाती है...।।
mahaadev ke darabaar mein duniya badal jaatee hai rahamat se haath kee lakeer badal jaatee hai leta hai jo bhee dil se mahaadev ka naam ek pal mein usakee takadeer badal jaatee hai

"अदभुत भोले तेरी माया
अमरनाथ में डेरा जमाया
नीलकंठ में तेरा साया
तू ही मेरे दिल में समाया...।।
adabhut bhole teree maaya amaranaath mein dera jamaaya neelakanth mein tera saaya too hee mere dil mein samaaya

"निराश नहीं करते बस एक बार सचे
मन से भोले शंकर से फ़रियाद करो
जय भोले जय भंडारी तेरी है महिमा न्यारी...।।
niraash nahin karate bas ek baar sache man se bhole shankar se fariyaad karo jay bhole jay bhandaaree teree hai mahima nyaaree

"भक्ति में है शक्ति बंधू
शक्ति में संसार है
त्रिलोक में है जिसकी चर्चा
उन शिव जी का आज त्यौहार है
सावन के दूसरे सोमवार की बधाई...।।
bhakti mein hai shakti bandhoo shakti mein sansaar hai trilok mein hai jisakee charcha

"नई दिशाए, नए रास्ते
मिल जाते हैं यूँही अक्सर
लेकिन जब तक ह्रदय में न हो आप
कुछ भी नहीं तब तक बिन भोलेनाथ...।।
naee dishae nae raaste mil jaate hain yoonhee aksar lekin jab tak hraday mein na ho aap

"सबसे बड़ा तेरा दरबार है
तू ही सब का पालनहार है
सजा दे या माफी महादेव
तू ही हमारी सरकार है हर हर महादेव...।।
sabase bada tera darabaar hai too hee sab ka paalanahaar hai saja de ya maaphee mahaadev too hee hamaaree sarakaar hai har har mahaadev

"घनघोर अँधेरा ओढ़ के
मैं जन जीवन से दूर हूँ
श्मशान में हूँ नाचता
मैं मृत्यु का #ग़ुरूर हूँ...।।
ghanaghor andhera odh ke main jan jeevan se door hoon shmashaan mein hoon naachata main mrtyu ka

"भगवान शिव की महिमा निराली है
जो कोई दिल से उनकी पूजा और भक्ति करता है
भगवान उसकी मनचाही मुराद पूरी करते हैं...।।
bhagavaan shiv kee mahima niraalee hai jo koee dil se unakee pooja aur bhakti karata hai bhagavaan usakee manachaahee muraad pooree karate hain

"नाच रहे ड़मरू की ताल पर शिवशंम्भु
त्रिशुलधारी गंगाधर बाबा महाकाल सर्वेशु...।।
naach rahe damaroo kee taal par shivashammbhu trishuladhaaree gangaadhar baaba mahaakaal sarveshu

"माया को चाहने वाला, बिखर जाता है
और मेरे महाकाल को चाहने वाला, निखर जाता है...।।
maaya ko chaahane vaala, bikhar jaata hai aur mere mahaakaal ko chaahane vaala nikhar jaata hai

"काल का भी उस पर क्या आघात हो
जिस बंदे पर महाकाल का हाथ हो...।।
kaal ka bhee us par kya aaghaat ho jis bande par mahaakaal ka haath ho

"क्या फर्क पड़ता है कि #जिंदगी कैसी होगी
विश्वास #भोलेनाथ पर है तो
सब ठीक ही होगा हर हर महादेव...।।
kya phark padata hai ki jindagee kaisee hogee vishvaas bholenaath par hai to sab theek hee hoga har har mahaadev

"रूद्र हूं महाकाल हूँ
मृत्यु रूप में विकराल हूं
नित्य हूं निरंतर हूं
शांति रूप में शंकर हूं...।।
roodr hoon mahaakaal hoon mrtyu roop mein vikaraal hoon nity hoon nirantar hoon shaanti roop mein shankar hoon

"मैं आरंभ हूँ..मैं ही अंत हूँ
मैं जीवन हूँ.. मृत्यु भी मैं ही हूँ
मैं नीलकण्ठ हूँ..नारायण मैं ही हूँ
मैं देव ही नहीं.. महादेव हूँ...।।
main aarambh hoon main hee ant hoon main jeevan hoon mrtyu bhee main hee hoon main neelakanth hoon naaraayan main hee hoon main dev hee nahin mahaadev hoon

"माया-मोह को छोड़ दिया मैंने
शिव से नाता जोड़ लिया मैंने...।।
maaya-moh ko chhod diya mainne shiv se naata jod liya mainne

"ॐ नम: शिवाये...
रखना मस्तक महादेव के दर पर सहारा मिलेगा
भक्त है जो महादेव के उन्हे भक्ति का
अवसर अगले जन्म मे दोबारा मिलेगा...।।
rakhana mastak mahaadev ke dar par sahaara milega bhakt hai jo mahaadev ke unhe bhakti ka avasar agale janm me dobaara milega

"मेरे महाकाल तुम्हारे बिना मैं शून्य हूँ
तुम साथ हो महाकाल तो में अनंत हूँ
जय श्री त्रिकालनाथ महाकाल...।।
mere mahaakaal tumhaare bina main shoony hoon tum saath ho mahaakaal to mein anant hoon jay shree trikaalanaath mahaakaal

"जख्म भी भर जायेगे, चेहरे भी बदल जायेगे
तू करना याद महादेव को तुझे दिल और
दिमाग मे सिर्फ आर सिर्फ महाकाल नजर आयेगे हर हर महादेव...।।
jakhm bhee bhar jaayege, chehare bhee badal jaayege too karana yaad mahaadev ko tujhe dil aur dimaag me sirph aar sirph mahaakaal najar aayege

"मंदिर की घंटी, आरती की थाली
नदी के किनारे सूरज की लाली
जिंदगी लाए खुशियों की बहार
मुबारक हो आपको सावन का त्यौहार...।।
mandir kee ghantee, aaratee kee thaalee nadee ke kinaare sooraj kee laalee jindagee lae khushiyon kee bahaar mubaarak ho aapako saavan ka tyauhaar

"आज ‪#‎India‬ मे ‪#‎Fogg‬ नही
मेरे ‪#‎महादेव‬ की ‪#‎Moj‬ चल रही है...।।
aaj ‪‎india‬ me ‪fogg‬ nahee mere ‪‎mahaadev‬ kee ‪#‎moj‬ chal rahee hai

"कर से कर को जोड़कर
शिव को करू प्रणाम
हर पल शिव का ध्यान धर
सफल होवें सब काम...।।
kar se kar ko jodakar shiv ko karoo pranaam har pal shiv ka dhyaan dhar saphal hoven sab kaam

"चिलम के धुंये में हम खोते चले गये
बाबा होश में थे मदहोश होते चले गये
जाने क्या बात है महादेव के नाम में
न चाहते हुये भी उनके होते चले गये...।।

"शिव की बनी रहे आप पर छाया
पलट दे जो आपकी किस्मत की काया
मिले आपको वो सब इस अपनी ज़िन्दगी में
जो कभी किसी ने भी ना पाया...।।

"तन की जाने, मन की जाने
जाने चित की चोरी उस महाकाल से क्या छिपावे
जिसके हाथ है सब की डोरी...।।

"कैसे कह दूँ कि मेरी
हर दुआ बेअसर हो गई
मैं जब जब भी रोया
मेरे भोलेनाथ को खबर हो गई...।।

"आकाल मृत्यु वो मरे जो काम करे चंडाल का
काल भी उसका क्या बिगाड़े जो भक्त हो महाकाल का...।।

"ठंड ऊनको लगैगी जिनके करमो में दाग है
हम तो भोलेनाथ के भक्त्त है
भैया हमारे तो मूंह में भी आग है...।।

"शिव की शक्ति, शिव की भक्ति
ख़ुशी की बहार मिले
श्रावण के पावन अवसर पर आपको
ज़िन्दगी की एक नयी शुरुआत मिले...।।

"मन छोड़ व्यर्थ की चिंता तू शिव
का नाम लिये जा
शिव अपना काम करेंगे तू अपना काम किये जा...।।

"शव हूँ मैं भी शिव बिना, शव में शिव का वास
शिव मेरे आराध्य हैं, मैं हूँ शिव का दास...।।

"शिव की ज्योति से नूर मिलता है
सबके दिलों को सुरूर मिलता है
जो भी जाता है भोले के द्वार
उसे कुछ न कुछ ज़रूर मिलता है...।।

"हँस के पी जाओ भांग का प्याला
क्या डर है जब साथ है अपने त्रिशुल वाला...।।

"जो समय की चाल है..अपने भक्तों की ढाल है
पल में बदल दे सृष्टि को वो महाकाल हैं...।।

"शतरंज की चालो का ख़ौफ़ उन्हें होता है
जो सियासत करते हैं
हम तो महादेव के भक्त है
ना हार की फ़िकर ना जीत का जिकर...।।

"मेरे जिस्म जान में #भोलेनाथ नाम तुम्हारा है
आज अगर मैं खुश हूँ तो यह एहसान भी #तुम्हारा है...।।

"काश! एक ऐसा जहान हो
जहां महादेव के भक्त और खुद महादेव हो...।।

"सारा जहाँ है जिसकी शरण मैं
नमन है उस शिव के चरण में
बने उस शिव के चरणो की धूल
आओ मिलकर चढ़ाये हम श्रद्धा के फूल...।।

"सारे सुख एक तरफ
महादेव की भक्ति एक तरफ...।।

"दिखावे की मोहब्बत से दूर रहता हूँ मैं
इसलिए महाकाल के नशे मे चूर रहता हू मैं...।।

"काल का भी उस पर क्या आघात हो
जिस बंदे पर महादेव का हाथ हो...।।

"भक्ति में है शक्ति बंधू
शक्ति में संसार है
त्रिलोक में है जिसकी चर्चा
उन शिव जी का आज त्यौहार है...।।

"माया‬ को चाहने वाला ‪‎बिखर‬ जाता है
और
मेरे ‎महादेव‬ को चाहने वाला ‪‎निखर‬ जाता है...।।

"लोग सारे देवताओं को देव बोलते है
पर मेरे गुरूदेव को महादेव बोलते है...।।

"शेरो वाली दहाड़ फ़िर सुनाने आए हैं
आग उगलने को फ़िर परवाने आये हैं
रास्ता भी छोड़ दिया स्वयं काल ने
जब देखा उसने “महादेव” के दीवाने आए हैं...।।

"विश्व का कण कण शिव मय हो
अब हर शक्ति का अवतार उठे
जल थल और अम्बर से फिर
बम बम भोले की जय जयकार उठे...।।

"दुश्मन बनकर मुझसे जीतने चला था नादान
मेरे MAHAKAL से मोहब्बत कर लेता तो मै खुद हार जाता...।।

Loading...